Tuesday, April 7, 2009

सीखेए सी - 4 : सी प्रोग्राम की विशेषता 1

पिछले लेख में हमने सी प्रोग्रामों की आठ विशेषताओं का जिक्र किया था। आइए इन्हें अधिक विस्तार से समझें। सुविधा के लिए हर विशेषता की व्याख्या अलग पोस्ट में देता हूं।

पहली विशेषता यह थी:-

1) /* और */ चिह्न

ये दुहरे चिह्न प्राग्राम के बारे में सूचनाएं देने के लिए या उसके किसी जटिल अंश को स्पष्ट करने वाली कोई टिप्पणी जोड़ने के लिए उपयोग में लाए जाते हैं। इन दोनों चिह्नों के बीच जो भी संदेश लिखा जाता है, उसे संकलक नजरंदाज कर देता है।

आप पूछ सकते हैं, कि तब इन संदेशों का उपयोग क्या है। बात यह है कि सी के बड़े-बड़े प्रोग्राम बहुत जटिल होते हैं और उन्हें एक नजर में समझना मुश्किल होता है। ऐसे में प्रोग्राम पढ़ने वालों की सुविधा के लिए प्रोग्राम-लेखक प्रोग्राम के अधिक जटिल हिस्सों को समझानेवाली टिप्पणियां प्रोग्राम में उपयुक्त स्थानों में जोड़ देते हैं।

इन्हें /* और */ चिह्नों के बीच रखने से एक साथ दो काम हो जाते हैं। प्रथम, संकलक इन टिप्पणियों को लांघ जाता है, इसलिए इन टिप्पणियों का प्रोग्राम पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता, पर प्रोग्राम पढ़नेवाले को प्रोग्राम को समझने में मदद मिलती है। दूसरा फायदा यह है कि इन दुहरे चिह्नों द्वारा घिरे रहने के कारण प्रोग्राम के टिप्पणी वाले अंश पढ़नेवाले की नजर में एकदम आ जाते हैं, और वह उन्हें प्रोग्राम का ही एक अंश समझने की गलती नहीं करता।

ध्यान में रखने की बात यह है कि ये दुहरे चिह्न हैं, यानी इनमें से केवल एक का प्रयोग नहीं हो सकता। केवल एक के प्रयोग को संकलक गलती के रूप में लेगा और प्रोग्राम के संकलन को रोक देगा। इन दुहरे चिह्नों के बीच लिखी गई टिप्पणि अनेक पंक्तियों की हो सकती है। आवश्यकता केवल इस बात की है कि टिप्पणी के आरंभ में /* चिह्न रहे और उसके अंत में */ चिह्न।

टिप्पणी देने के अलावा इन चिह्नों का एक अन्य उपयोग भी है। जैसा कि हमने ऊपर स्पष्ट किया, संकलक इन दोनों चिह्नों के बीच में जो भी लिखा होता है, उसे नजरंदाज कर देता है। यह विशेषता प्रोग्राम की पंक्तियों में रह गई त्रुटियों को ढूंढ़ने और उन्हें सुधारने में बहुत उपयोगी है। संदिग्ध पंक्तियों को इन चिह्नों से घेरकर प्रोग्राम का संकलन करके देखा जा सकता है। यदि संकलन हो जाता है, तो त्रुटि इन चिह्नों के भीतर की पंक्तियों में ही है। इस तरह लंबे और जटिल प्रोग्रामों में त्रुटिवाले अंशों का आसानी से पता लगाया जा सकता है।

4 comments:

  1. सुंदर अति सुंदर लिखते रहिये .......
    आपकी अगली पोस्ट का इंतजार रहेगा
    htt:\\ paharibaba.blogspost.comm

    ReplyDelete
  2. बहुत सुंदर…..आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है…..आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे …..हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

    ReplyDelete
  3. आपका हिंदी ब्लॉग की दुनिया में स्वागत है... और श्री हनुमान जी की जयंती पर आपको हार्दिक शुभकामनाएं.....

    ReplyDelete